बुधवार, 3 फ़रवरी 2010

जय हो !

फरवरी की पहली तारीख को सुबह जब भारतवासियों ने आँख खोली तो, हममे से ही एक भारतीय अपनी धरती से दूर लॉस अन्ज्लेस में इतिहास रच रहा था ....................जी हाँ हम बात कर रहे है दक्षिण भारतीय कम्पोजर एवं गीतकार ए आर रहमान की जिन्हें स्लम डॉग फिल्म के गीत जय हो के लिए ग्रैमी पुरस्कार मिला .है ............
                                                                  रहमान पहले भारतीय है जिन्हें यह पुरस्कार व्यक्तिगत रूप से मिला है .४४ वर्षीय रहमान को  जय हो गीत के लिए पिछले साल आस्कर पुरस्कार मिल चुका है .गुलजार द्वारा लिखित इस गीत ने इतिहास रच दिया है ...............
                                                   १३ फिल्म फेयर,४ रास्ट्रीय,२ आस्कर एवं अन्य कई प्रतिष्ठित पुरस्कारों के विजेता रहमान ने भारत का गौरव बढाया है ............................ आशा है वह आगे भी भारत की शान बढायेगे ..............हमारी शुभकामनाये उनके साथ है ...........................

5 टिप्‍पणियां:

विचारों का दर्पण ने कहा…

बहुत बढ़िया ....रहमान जी ने देश का नाम रोशन कर दिया ......

मनोज कुमार ने कहा…

जय हो।

Udan Tashtari ने कहा…

रहमान को बधाई!!

meri najar mei ने कहा…

A.R.Rahman is proud of nation

हास्यफुहार ने कहा…

बेहतरीन। बधाई।